1 रुपए की चॉकलेट के लिए एक नवालिक लड़के को 9 घंटे तक पीटा: रस्सी से बांधे-हाथ पैर; गाड़ी धोने वाली मशीन से मुँह पर डालता रहा पानी; दो गिरफ्ता

Pankaj Thakur
0

बिहार के समस्तीपुर जिले में 16 साल के एक नवालिक लड़के को 1 रुपए की चॉकलेट के लिए लगातार 9 घंटे तक बेरहमी से पीटा गया। एक चॉकलेट चोरी करने के आरोप में नवालिक लड़के का हाथ-पैर बांधकर दुकानदार और उसके बेटे ने पूरे गांव वालों के सामने उसकी बहुत पिटाई की। पीटने से मन नहीं भरा तो वो गाड़ी धोने वाला प्रेशर मशीन लेकर आया और उसके मुंह पर पानी की प्रेशर लगातार मारता रहा।

tied-hands-and-feet-with-rope-in-samastipur-water-kept-pouring-from-the-car-wash-machine, news, samastipur news, news, local news, bihar news, samastipur
दुकानदार गाड़ी धोने वाला प्रेशर का पाइप लाया और नाबालिग पर पानी डालता रहा।

Samastipur News:- इस दौरान बच्चा रो-रोकर छोड़ने की भीख मांग रहा था। लेकिन किसी गांव वालों ने उसकी मदद नहीं की। घटना मंगलवार 04.07.2023 की है। मामला सिंघिया थाना क्षेत्र अंतर्गत माहे गांव का है। नवालिक लड़के का पिटाई का वीडियो नेट पे वायरल हो गया है तो अब इसका वीडियो सामने आया है। सूत्रों के अनुसार मंगलवार देर रात पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

गाँव के मुखिया भी देखते रहा नवालिक लड़के की पिटाई

पीड़ित लड़का ने बताया कि वह दुकान पर पान मसाला खरीदने गया था। इसी दौरान दुकान के मालिक मोती शाह ने चॉकलेट चोरी का आरोप लगाते हुए उसका बहुत पिटाई किया और रस्सी से हाथ-पैर बांध दिए और पानी प्रेशर मशीन से पानी डालने लगा। बीच-बीच में लाठी डंडे से भी मारता रहा। आस पास बहुत सारे लोग मौजूद थे और खरे होकर उस लड़का का पिटाई देख रहे थे। किसी ने बचाने का कोशिश नहीं किया, बल्कि सभी देखते रहे।

पीड़ित लड़के ने कहा कि पंचायत के मुखिया दिलीप सिंह भी वहां मौजूद थे। वो सारी घटना देख रहे थे। वह बचाने के बदले बार-बार कह रहे थे कि इसका किडनी निकालकर बेच दो। फिर वहा पुलिस आई मुझे दुकानदार के चंगुल से छुड़ाकर थाना ले गई और अस्पताल लेकर पहुंची। फिर कुछ ही देर बाद हमें घर भेज दिया। फिर रात्रि करीब 1 बजे हमारे घर पर पुलिस आई और हमें थाना ले गई। जहां पुलिस की ओर से लिखित शिकायत पर अंगूठे का निशान लिया।

बता दें कि गांव वालों में से किसी ने पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने उसे छुड़वाया  इलाज के बाद पुलिस ने बच्चे को घर छोड़ दिया।

जांच के बाद की जाएगी कार्रवाई

एसपी विनय तिवारी ने बताया कि मामला की सुचना मिलते ही सिंघिया थाना‎ को तुरंत कार्रवाई‎ करने का आदेश दिया‎ गया। इस मामले में सिंघिया थाना अध्यक्ष‎ ने कार्रवाई करते हुए‎ माहे गांव किराना‎ दुकानदार मोती साहू‎ और बेटे अमरदीप‎ कुमार दोनों को‎ गिरफ्तार कर न्यायिक‎ हिरासत में भेजा गया‎ है।‎

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)