प्यार क्या होता है ? - सच्चा प्यार किसे कहते हैं - What is True Love - in Hindi - Pyar Kya Hota Hai

Pankaj Thakur
1
प्यार क्या होता है ? - सच्चा प्यार किसे कहते हैं - What is True Love - Pyar Kya Hota Hai

Pyar Kya Hota Hai Or What Is True Love या सच्चा प्यार किसे कहते हैं ऐसे सवाल आपके मन में बार-बार जरूर आते होंगे। प्यार को प्रेम, मोहब्बत, इश्क़ के नाम से भी जाना जाता है। प्यार एक एहसास है जिसे बयां नहीं किया जा सकता। किन्ही दो इंसानों को एक दूसरे के साथ रिश्ता बनाये रखने के लिए प्यार जैसे एहसास का होना जरुरी है अगर उनके बीच प्यार नहीं है तो वह रिश्ता ज्यादा देर तक नहीं चल सकता। किसी के साथ रिलेशनशिप में होना और किसी से प्यार करना दोनों ही अगल-अलग चीज़ें हैं। कई बार हम किसी के साथ रिश्ते में तो होते हैं पर वहां पर प्यार का आभाव होता है।

आखिर यह प्यार चीज क्या है हम कैसे जाने कि सच्चा प्यार क्या होता है प्यार का असली मतलब क्या होता है आखिर प्यार की परिभाषा क्या है? क्योंकि जब प्यार की बात आती है तो सबसे पहले आपको मन में अपने उस साथी दोस्त या किसी का ख्याल जरूर आता है जिसे आप अपने दिलो जान से ज्यादा चाहते है और उसके बारे में हमेशा सोचते है।  

आप जिससे बहुत अधिक ज्यादा प्यार करते हैं। वह कोई भी हो सकता है जैसे आपके माता-पिता, भाई-बहन या फिर आपकी कोई प्रेमी या प्रेमिका,या कोई जीव जन्तु या फिर अपने देश से प्रेम या फिर किसी भी चीज से प्रेम जिसका ख्याल आते ही आप अपने आसपास की सारी चीजों को भूल जाते हो और उसकी ख्यालों में खो जाते है और आप उससे मिलने के लिए बेताब हो जाते है और उसके ख्यालो में खो जाते है। 

गर्म योग: जाने जोखिम और उसके लाभ

क्योंकि प्यार एक एहसास है जिसको शब्दों में बयां करना लगभग नामुमकिन है। 

अगर इस दुनिया की बात की जाए तो इस दुनिया में प्यार ही एक ऐसी एहसास है जो सब को एक दूसरे के साथ जोड़ कर रखती है प्यार से ही इस संसार के सभी लोग एक दूसरे के साथ जुड़कर रहते हैं एक दूसरे के साथ खुशियां मनाते हैं। संसार के सभी प्राणी जैसे मनुष्य, पशु, पक्षी, या कोई भी जीव-जंतु, या कोई भी प्राणी जिसमें जीवन है वह सभी प्यार की अटूट डोर से एक दूसरे के साथ बंधे हुए हैं । अगर आप ध्यान से देखेंगे तो यह आपको जरूर पता चल जाएगा कि कुदरत ने हर तरह के प्राणी के लिए एक साथी बना कर इस संसार में भेजा है। जैसे की इंसानो में नर और नारी। 

अगर आप ध्यान से देखेंगे तो यह जान जाएंगे कि संसार में जितने भी प्राणी हैं उन सबो का जोड़ा भगवान ने पहले ही रच दिया है। क्योंकि इस संसार में कोई भी व्यक्ति अकेला एक पल भी नहीं रह सकता उसको जीवन जीने के लिए जीवन साथी की जरूरत पड़ती हैं। और जीवन साथी के बगैर कोई अकेले किसके लिए जिएगा जीने के लिए कोई ना कोई वजह चाहिए कोई तो हो जिससे वो मन की बात कर सके और प्यार करे। 

इसी को ध्यान में रखते हुए ईश्वर ने हर एक के लिए जीवन साथी की रचना की है। और हर प्राणी को इस संसार में जीने के लिए और पूरी जिंदगी बिताने के लिए, ईश्वर ने प्यार की रचना की है। प्यार वह धागा है जो इस संसार के हर प्राणी को एक दूसरे के साथ बांध कर रखता है। प्यार के बिना कोई भी प्राणी इस संसार में एक छण भी जीबित नहीं रह सकता। प्यार के एहसास की वजह से ही लोग एक दूसरे के करीब आते है फिर साथ जुड़ते है और पूरी जिंदगी एक दूसरे के साथ प्रेम से बिताते हैं।

कह सकते हैं कि Pyar वह एहसास है जो संसार को चलाता है हर किसी को एक दूसरे के साथ जोड़कर रखता है प्यार के बिना जीवन ही नहीं बल्कि यह संसार भी रुक जाएगा। लेकिन आजकल युवा पीढ़ी के लोग प्यार को एक अलग नजरिए से देखते हैं और प्यार का सही अर्थ नहीं जानते हैं। लड़के हों या लड़की आजकल प्यार के नाम में अपनी जरुरत पूरी करते हैं। उन्हें शारीरिक संबंध बनाने की भूख रहती है और उसे वह प्यार की चादर से ढकने की कोशिश करते हैं। ऐसे प्यार, प्यार नहीं बल्कि टाइमपास होता है जो लड़के-लड़कियां एक दूसरे के साथ करते हैं। उन्हें सिर्फ शारीरिक संबंध बनाने का ही विचार हर पल रहता है।

ऐसी महिला से रहे हमेशा दूर,वरना जिंदगी हो जाएगी तबाह और रोड पे आ जाओगे।

आपने कई फिल्म देखीं होंगी जिसमे हीरो और हेरोइन को पहली ही नजर में एक दूसरे से प्यार हो जाता है और वो अपना दिल एक दूसरे को दे देते हैं। बैसे ही आज कल के युवाओ को कभी भी प्यार हो जाता है और किसी से भी हो जाता हा जैसे एक लड़का अगर कॉलेज में जाता है या कहीं भी किसी स्थान पर जाता है अगर उसे वहां कोई सुंदर लड़की या स्त्री दिख जाती है तो पहली नजर में उसे उस लड़की से Pyar हो जाता है और वो उसकी तरफ बार बार देखता हैं और उसका पीछा भी करने लगता हैं।  फिर वह लड़का अपने प्यार के ख्यालों में खोने लगता है और इसे ही प्यार समझने लगता है। अगर लड़की गलती से भी उस लड़के से हॅस कर बात कर लेती है तो लड़का उसको अपना सच्चा प्यार समझने लगता हैं। 

जो बिल्कुल ही गलत है अगर आप किसी को पहली बार देखें और आपको देखते ही उससे लगाव हो जाए तो इसे प्यार नहीं कहते इसे आकर्षण कहते हैं। अगर आपने किसी सुंदर लड़की या किसी सुंदर लड़के को देखा और आपको उससे पहली नजर में प्यार हो जाए तो इसे आप Pyar समझने लगते हैं बल्कि इसे सुंदरता का आकर्षण कहते हैं मतलब आप उसकी सुंदरता की ओर आकर्षित हो चुके हैं । और इसे आप प्यार समझते हैं 

जबकि यह प्यार नहीं है इसे आकर्षण कहते हैं क्योंकि हमारी आंखें हमेशा अच्छी और सुंदर चीजों को देखना पसंद करती है मान लीजिए कि आप सड़क पर जा रहे हैं और वहां पर आपको चारों और कचरा नजर आए। तो आप कचरे की ओर ध्यान बिल्कुल भी नहीं देंगे। पल भर के लिए आपका ध्यान चला भी जाए तो आप अपना ध्यान उधर से हटा देंगे और फिर आप आगे बढ़ जाएंगे । लेकिन मान लीजिए कि कहीं आप सड़क पर जा रहे हो जहां आसपास में सुंदर फूलों के बागान हो या फिर फलों के पेड़ हो तो आप उसे जरूर देखेंगे। क्योंकि वह सुंदर है और मनमोहक भी है खुशबूदार भी है उसी तरह से अगर आपकी आंखों के सामने कोई भी सुंदर चीज आ जाती है तो आप उसको देखने लगते हैं और आप उसकी ओर आकर्षित होने लगते हैं ठीक वैसे ही जैसे आप किसी लड़के या लड़की को देखते हैं और उसकी सुंदरता आपकी आंखों को भा जाती है 

तो इसका मतलब यह नहीं कि आप उससे प्यार करने लगे या फिर आपको उससे प्यार हो जाता है, इसका मतलब यह है कि आप उसकी सुंदरता की ओर आकर्षित चुके हैं। इसे आकर्षण कहते हैं प्यार बिल्कुल भी नहीं कहते हैं।

आखिर सुबह में क्यों नहीं पीनी चाहिए कॉफी: Why we should not drink coffee in the morning?



आखिर सच्चा प्यार होता क्या हैं। 

दोस्तों मेरी एक बात को हमेशा याद रखना जहां पर कोई वजह शामिल हो तो वो प्यार नहीं हो सकता है क्योंकि प्यार हमेशा बेवजह होता है प्यार हमे कभी बता कर नही होता है प्यार कब और किस से हो जाए इसका अंदाजा किसी को नहीं होता है यही तो प्यार की खासियत होती है आपने एक कहावत भी ज़रूर सुनी होगी की प्यार अँधा होता है प्यार कभी गरीबी नही देखता प्यार कभी उम्र नही देखता प्यार कभी जाति नही देखता है तो ये कहावत बिल्कुल सच है

जब आपको किसी इंसान की बहुत फ़िक्र होती है आप उसी के बारे में बार-बार सोचते रहते हैं आपको उसी का ख्याल आता है आप उसे याद करते हैं आपका दिमाग बार बार उसी इंसान की तरफ जाता है आपको उससे बातें करना अच्छा लगता है उसे देख कर सुकून मिलता है उसके हर ख़ुशी गम में उसके साथ खड़े रहते हैं उसके आँसू बहने पर आपको तकलीफ होती है तो इसी को हम प्यार कहते हैं।

जब आप किसी इंसान के साथ जिंदगी भर रहने का ख्वाब देखते हैं उसके साथ अपने जीवन के सारे पल बिताने के बारे में सोचते हैं खुद से ज्यादा उस इंसान का ख्याल रखते हैं उसके दुख के आगे आप अपने दुख भूल जाते हैं उसकी आंखों में आंसू देख कर आपको तकलीफ होती है उसके लिए आप कुछ भी करने को तैयार होते हैं इसी को प्यार कहते हैं।

प्यार दुनिया का सबसे खूबशूरत एहसास में से एक माना जाता है क्यूकी प्यार की कल्पना हर कोई करना चाहता है इस दुनिया में प्यार कई तरह से होता हैं। जिंदगी में एक बार हर किसी को प्यार ज़रूर होता है लेकिन बहुत बार ऐसा होता है कि आप जान नहीं पाते हैं कि आपको प्यार है या नहीं क्योंकि आपको तो पता ही नहीं होता है कि pyar ka kya matlab hota hai और ना ही आपको sacha pyar kya hota hai इस बारे में भी कुछ पता नहीं होता है लेकिन अब आपको घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है क्योंकि आज इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप प्यार के बारे में सब कुछ जान जाएंगे 

अगर आपके मन में कोई प्रश्न हो तो कमेंट करके पूछ सकते हैं आपके सवालों के जवाब देने में हमें बड़ी खुशी मिलती है इसी तरह की और जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग पर हर रोज विजिट करते रहें और पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।


एक टिप्पणी भेजें

1टिप्पणियाँ
  1. Ye sab faltu chij hai jo kehne our sunne Mai hi achhi lagti hai reality mai ye sab kuchh nhi hota ye sab story mai hi achhi lagti hai real life mai nhi

    जवाब देंहटाएं
एक टिप्पणी भेजें